सरिलेरु नीकेवरु मूवी रिव्यू रेटिंग: 2.5 / 5 स्टार (दो और आधे स्टार)

स्टार कास्ट: महेश बाबू, रश्मिका मंदाना, विजयशांति और प्रकाश राज

निर्देशक: अनिल रविपुडी

क्या है अच्छा: सरिलरु नीकेवरु के साथ, प्रशंसकों को अपने प्रिय सुपरस्टार महेश बाबू का पुराना जलवा वापस मिल जाता है, जिसे देख हर एक फैन उनका दिवाना हो जाता है. अभिनेता के पास दक्षिण फिल्म उद्योग में सबसे अधिक मंत्रमुग्ध करने वाले आकर्षण हैं और वह जानते हैं कि इसका उपयोग कैसे करना है. फिल्म में एक प्रभावशाली हास्य की भावना भी जुड़ी हुई है.

क्या बुरा है: निर्देशक अनिल रविपुड़ी सरिलरु नीकेवरु में एक ही समय में बहुत सी कहानियां बताने की कोशिश करते हैं, जो हमें काफी भ्रमित करती हैं.

लू ब्रेक: महेश बाबू की सबसे मासूम मुस्कान की वजह से फिल्म न चाहते हुए भी आपको कुछ हद तक लुभा सकती है.

देखें या नहीं?: अगर आप महेश बाबू के फैन हैं या फिर आपके पास कोई दूसरा प्लेन नहीं है तो जरूर जाएं.

एक कॉलेज की प्रोफेसर भारती (विजयशांति) दो बेटों की मां हैं. दोनों भारतीय सेना में हैं, जबकि एक पहले ही शहीद हो चुका है. वहीं, अजय (महेश बाबू) के नेतृत्व में दूसरे की भी एक ऑपरेशन के दौरान मृत्यु हो जाती है. शहीद के परिवार को सूचित करने की जिम्मेदारी अजय ने ली है.

वहीं, अजय भारती के घर आता है, जहां वह देखता है कि घर को नष्ट कर दिया गया. दरअसल, भारती को एक मंत्री (प्रकाश राज) द्वारा परेशान किया जाता है क्योंकि वो उसके अवैध कार्यों के खिलाफ खड़ी है.

फिल्म में एक नया मोड़ आता है कि कैसे अजय भारती को इस मंत्री से बचाता है. वहीं, वह आपको भ्रष्टाचार के खिलाफ भी लड़ता दिखाई देगा.

सरिलेरु नीकेवरु रिव्यू मूवी रिव्यू : स्क्रिप्ट एनालिसिस

जैसा कि कहा गया है, स्क्रिप्ट आपको भ्रमित करती है. फिल्म कश्मीर की खूबसूरत घाटी में शुरू होती है, जहां भारतीय सेना के नेतृत्व में अजय अचानक हिट ऑपरेशन करता है. ऑपरेशन में एक सैनिक की मौत हो जाती है. इसके बाद देखने को मिलता है कि अजय अपने घर के लिए निकल रहा है.

कहानी में अब अचानक हमें राधिका दिखती है, जिसका किरदार सिर्फ इतना ही है जब वह अजय को देख के चिल्लाती है. यह आपको थोड़ा सा कन्फ्यूज करेगा, जहां आप सोच में पड़ जाएंगे कि आखिर हुआ क्या.

फिर हम आगे देखते हैं कि अजय भारती के लिए कैसे भ्रष्ट राजनेताओं से लड़ता है. यह हिस्सा लगभग 60% स्क्रीनप्ले को कवर करता है. अब निर्माताओं से मेरा सवाल यह है कि क्या एक कहानी से दूसरे सिनेमाई प्रयोग के लिए अचानक कूदना जरूरी है? यदि हां, तो हम तीनों में से कौन सी कहानी पर ध्यान केंद्रित करें.

फिल्म की कहानी का एक भी बिंदु एक जैसी कहानी को दिखने की अनुमति नहीं देता है. फिल्म की कुछ कहानियां भावनात्मक, मजाकिया, पेचीदा हैं, जो भ्रमित कर रही हैं कि क्या महसूस किया जाए.

यह पहली बार है जब निर्देशक अनिल महेश जितने बड़े स्टार के साथ काम कर रहे हैं. अनिल उतना ही प्रयास करते हैं, जितना परिचय शॉट में कर सकते हैं.

सरिलेरु नीकेवरु मूवी रिव्यू: स्टार परफॉर्मेंस

तो चलिए पुराने महेश बाबू का एक बार फिर से स्वागत करते हैं. लंबे समय के बाद अभिनेता को इस तरह की भूमिका में देखने को मिलता है, जिन्हें देख हम बेहद खुश हैं. फिल्म में महेश मजाक, भाषण और 100 पुरुषों से एक साथ लड़ाई कर रहे, वह भी बिना खरोंच के. हम यूं कहें तो महेश अपने अंदाज के साथ वापस आ गए हैं, जिसे देख हम सच में बेहद खुश हैं.

अभिनेत्री विजयशांति का किरदार बेहतरीन किरदारों में से एक है. वहीं, उनकी परफॉर्मेंस भी काफी दिलचस्प है, जिसे देख आप भी प्रभावित हो जाएंगे.

प्रकाश राज अभी तक फिर से मज़ेदार, डरावना और खलनायक का किरदार निभा रहे हैं. उन्होंने अच्छी एक्टिंग की है, लेकिन मैं उन्हें और प्रयोग करते देखना चाहता हूं.

राधिका भी ठीक हैं. फिल्म में वह महेश के आकर्षण से आकर्षित होकर सिर्फ ये मोटो बनाती है कि वो उनसे शादी करें और उन्हें देखकर चिल्लाए. राधिका की मां की भूमिका निभाने वाली अभिनेत्री संगीता का अभिनय दिलचस्प है.

सरिलेरु नीकेवरु मूवी रिव्यू: डायरेक्शन, म्यूजिक

अनिल के निर्देशन में बड़े पैमाने पर चिल्लाया गया और इस बात से इनकार नहीं किया गया कि उनकी फिल्म एक हद तक सफल है. अगर लंबा क्लाइमेक्स और रैंडम डांस नंबर नहीं तो फिल्म कम से कम 20 मिनट छोटी हो सकती थी. अनिल पर दबाव काफी दिखाई देता है क्योंकि वह हर उस चीज को शामिल करने की कोशिश करते हैं, जिससे फिल्म उद्देश्य पूरा नहीं हो पाता है. देवी श्री प्रसाद का संगीत ठीक है. एकमात्र प्रभावशाली टाइटल ट्रैक है, जो सही कॉर्ड को हिट करता है.

सरिलेरु नीकेवरु मूवी रिव्यू: द लास्ट वर्ड

अगर आप महेश बाबू के प्रशंसक हैं तो उन्हें देखने जरूर जाएं. यदि नहीं, तो आपके पास सप्ताहांत के लिए कोई और प्लेन नहीं हो तो जाएं.

रेटिंग: 2.5 स्टार!

सरिलेरु नीकेवरु ट्रेलर…

सरिलेरु नीकेवरु 10 जनवरी, 2020 को रिलीज़ हुई.

सरिलेरु नीकेवरु को देखने का अपना अनुभव हमारे साथ साझा करें.

यह भी देखें